राष्ट्र गान और राष्ट्र गीत भारत के हर नागरिक को आना चाहिये। दोनो ही बचपने से ही स्कूलों मं सिखाए जाते हैं। स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने के बाद राष्ट्रीय गान गाया जाता है।
Image result for national anthem

भारत का राष्ट्रगान

राष्ट्रगान को रविंद्र नाथ टैगोर ने लिखा था।  टैगोर ने बांग्लादेश का राष्ट्रगान (अमार सोनार बांगला) भी लिखा है. राष्ट्रगान के हिंदी संस्करण को संविधान सभा द्वारा 24 जनवरी, 1950 को स्वीकार किया गया. 1911 में ही टैगोर ने राष्ट्रगान के शब्द और संगीत को लयबद्ध कर लिया था.

Image result for national anthem tagore


जनगणमन-अधिनायक जय हे भारतभाग्यविधाता!
पंजाब सिन्ध गुजरात मराठा द्राविड़ उत्कल बंग
विन्ध्य हिमाचल यमुना गंगा उच्छलजलधितरंग
तव शुभ नामे जागे, तव शुभ आशिष मागे,
गाहे तव जयगाथा।
जनगणमंगलदायक जय हे भारतभाग्यविधाता!
जय हे, जय हे, जय हे, जय जय जय जय हे।।

भारत का राष्ट्रगीत


वंदे मातरम् भारत का राष्ट्रीय गीत है, जिसे राष्ट्रगान के बराबर सम्मान प्राप्त है. इसकी रचना बंकिमचंद्र चटर्जी द्वारा की गयी थी.

Image result for banking chandra chatterjee vande mataram

वन्दे मातरम्।
सुजलाम् सुफलाम् मलय़जशीतलाम्,
शस्यश्यामलाम् मातरम्। वन्दे मातरम्।।

शुभ्रज्योत्स्ना पुलकितयामिनीम्,
फुल्लकुसुमित द्रुमदलशोभिनीम्,
सुहासिनीम् सुमधुरभाषिणीम्,
सुखदाम् वरदाम् मातरम्। वन्दे मातरम्।।

कोटि-कोटि कण्ठ कल-कल निनाद कराले,
कोटि-कोटि भुजैर्धृत खरकरवाले,
के बॉले माँ तुमि अबले,
बहुबलधारिणीं नमामि तारिणीम्,
रिपुदलवारिणीं मातरम्। वन्दे मातरम्।।

तुमि विद्या तुमि धर्म,
तुमि हृदि तुमि मर्म,
त्वम् हि प्राणाः शरीरे,
बाहुते तुमि माँ शक्ति,
हृदय़े तुमि माँ भक्ति,
तोमारेई प्रतिमा गड़ि मन्दिरे-मन्दिरे। वन्दे मातरम्। ।

त्वम् हि दुर्गा दशप्रहरणधारिणी,
कमला कमलदलविहारिणी,
वाणी विद्यादायिनी, नमामि त्वाम्,
नमामि कमलाम् अमलाम् अतुलाम्,
सुजलां सुफलां मातरम्। वन्दे मातरम्।।

श्यामलाम् सरलाम् सुस्मिताम् भूषिताम्,
धरणीम् भरणीम् मातरम्। वन्दे मातरम्।।



To read this in English click here

Forthcoming Festivals

Download our free mobile app

Get festival updates on your mobile & Explore and enjoy the panorama of Festivals/Fairs/Melas celebrated in India.