भारत की सबसे पहली महिला प्रधानमंत्री और सबसे ज्यादा वक्त तक तक देश को चलाने वालीं श्रीमती इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि 31 अक्टूबर को होती है। इंदिरा गांधी का जन्म 19 नवम्बर 1917 को हुआ था, 31 अक्टूबर 1984 को उन्ही के बॉडीगार्ड ने गोली मार दी थी। इंदिरा गांधी के बाद अभी तक कोई महिला प्रधानमंत्री नहीं बनी है। इंदिरा गांधी ने कई साल तक देश की बागडोर संभाली और कई कड़े फैसले भी लिये। उनकी जीवनी में आपातकाल का जिक्र काफी किया जाता है। इंदिरा गांधी ने देश को एक मजबूत सरकार दी। पाकिस्तान के साथ 1971 में जब लड़ाई हुई तो उसको करारा जवाब मिला। जनसंख्या कम करने के लिये नसबंदी, हरित क्रांति, परमाणु कार्यक्रम जैसे कई बड़े निर्णय उन्होंने लिये।  उनकी पुण्यतिथि पर पूरे देश में उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी जाती है।

Image result for indira gandhi

जीवन और राजनीति

इंदिरा गांधी का जन्म जवाहरलाल नेहरू के घर हुआ। बाद में फिरोज गांधी से शादी के बाद इनका नाम इंदिरा गांधी हुई है। स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद ये विश्व-भारती विश्वविद्यालय में पढ़ने गईं। बाद में वो इन्होंने इंग्लैंड के सोमरविल कॉलेज, ऑक्सफोर्ड में दाखिला लिया। वहीं पर फिरोज गांधी से मुलाकत हुई, जिनके साथ 16 मार्च 1942 को शादी हुई। पढ़ाई करने के बाद ये भारत वापस आ गईं और स्वतंत्रता आंदोलन में भाग लेना शुरू कर दिया। नेहरू जी की मृत्यु के बाद वो राज्यसभा के जलिये सूचना प्रसारण मंत्री बनीं। लालबहादुर शात्री जी के निधन के बाद इंदिरा गांधी को देश की बागडोर दी गई। इन्होंने कई फैसले लिये और लोगों की चहेती बन गईं। बाद में तीन बार प्रधानमंत्री का कार्यकाल पूरा किया, लेकिन चौथी बार इनको मार दिया गया था।

Image result for indira gandhi feroz gandhi

आपातकाल और ऑपरेशन ब्लू स्टार

इलाहाबाद से राज नारायण के खिलाफ चुनाव में इंदिरा गांंधी जीत तो गईं, लेकिन राज नरायण ने उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए। मामला कोर्ट पहुंचा तो कोर्ट ने आरोप सही पाए और इंदिरा गांधी के लोक सभा चुनाव को रद्द कर दिया गया। 6 साल के लिये चुनाव लड़ने से प्रतिबंध लगा दिया गया। ऐसे में वो अब प्रधानमंत्री पद पर नहीं रह सकती थीं। जगह जगह उनके खिलाफ आंदोलन होने लगे। मामले को देखते हुए आपातकालीन स्थिति की घोषणा कर दी गई। इस फैसले के बाद इंदिरा गांधी का जनाधार बहुत ही कम हो गया और जब आपातकाल के बाद चुनाव हुए तो वो हार गईं।
हालांकि बाद में वो दोबार चुनाव जीतीं तो पंजाब में समस्याएं शुरू हो गईं। 1981 में अलगाववादी सिख समूह के नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले को मारने के लिये अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में आर्मी भेजी गई और ऑपरेशन ब्लू स्टार चलाया गया। अलगाववादी तो मारे गए पर इंदिरा गांधी के इस कदम से काफी लोग नाराज हो गए। 31 अक्टूबर 1984 को इंदिरा गांधी के दो बॉडी गार्ड्स ने ही उन्हें सर्विस हथियार से गोली मार दी थी। जिससे इंदिरा गांधी की मौत हो गई।
Image result for emergency indira gandhi

पुण्यतिथि पर कार्यक्रम

इस दिन देश भर में इंदिरा गांधी को याद करने के लिये कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं। कांग्रेस के सभी कार्यालयों में उनकी प्रतिमा पर पुष्प अॉर्पित करके उनके कार्यों को याद किया जाता है।

To read this article in English click here

Forthcoming Festivals

Download our free mobile app

Get festival updates on your mobile & Explore and enjoy the panorama of Festivals/Fairs/Melas celebrated in India.