उत्तराखंड कई मंदिरों का स्थल है। यह एक पवित्र भूमि है। जहां कई त्यौहार बहुत उत्साह से मनाए जाते हैं। उत्तराखंड में विभिन्न त्योहारों का जश्न मनाने का कारण प्रमुख तीर्थ केंद्रों की उपस्थिति है। इनमें से अधिकतर त्यौहार दो से तीन दिनों की अवधि में नृत्य और संगीत के साथ मनाए जाते हैं। अधिकांश त्यौहारों की पूर्व संध्या पर मंदिरों के पास के स्थानों को महत्वपूर्ण केंद्रों में बदल दिया जाता है जहां पूरे भारत और दुनियाभर के पर्यटक भाग लेने के लिए एकत्रित होते हैं। उत्तराखंड में जनवरी में मकर संक्रांति के साथ नया साल शुरू होता है जिसके बाद काले कौव या घुघुतिया का त्योहार होता है। बसंत पंचमी वसंत के आगमन का संकेत देता है। नंददेवी राजजाट यात्रा उत्तराखंड का सबसे लोकप्रिय त्यौहार है। गंगा दुशहरा मई और जून के महीने में मनाया जाता है, और जिसमें पवित्र गंगा नदी की पूजा कर श्रद्धालु उसमें स्नान करते हैं। यहां रामवनमी कृष्णा जन्माष्टमी, घूया एकादशी और शिवरात्रि मुख्य रुप से मनाई जाती है।

उत्तराखंड के त्यौहारों की सूची


 

Forthcoming Festivals

Download our free mobile app

Get festival updates on your mobile & Explore and enjoy the panorama of Festivals/Fairs/Melas celebrated in India.