गोवा, भारतीय प्रायद्वीप के पश्चिमी तट पर स्थित है। गोवा प्रांत अपनी प्राकृतिक सुंदरता व अनूठी संस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। आज़ादी से पहले यह प्रांत पुर्तग़ीज व फ्रांसीसियों का उपनिवेश रह चुका है। इस वजह से आज भी यहाँ के रहन-सहन, भाषा व खानपान पर पश्चिमी संस्कृति का पूरा प्रभाव दिखाई देता है। वैसे तो गोवा में कई त्यौहार मनाए जाते हैं किन्तु गोवा में क्रिसमस और नया साल बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है। गोवा में गोवा कार्निवल एक उत्सव का मौसम है जो लेंट से ठीक पहले पड़ता है; मुख्य कार्यक्रम आमतौर फरवरी के दौरान होते हैं। कार्निवल में आमतौर पर एक सार्वजनिक समारोह या परेड शामिल होता है जिसमें सर्कस के तत्त्व, मुखौटे और सार्वजनिक खुली पार्टियां की जाती हैं। समारोह के दौरान लोग अक्सर सजते संवरते हैं या बहुरुपिया बनते हैं, जो दैनिक जीवन के पलटाव को दर्शाता है। कार्निवल एक त्योहार है जिसे पारंपरिक रूप से रोमन कैथोलिक में आयोजित किया जाता है गोवा के अनेक ऐसे उत्सव हैं जिन्हें केवल गोवा में ही मनाया जाता है। चिक्कल कालो ऐसा ही एक उत्सव है। यह त्यौहार आषाढ़ मास 12वीं तिथि को मनाया जाता है। अंग्रेजी दैनन्दिनी अनुसार यह जुलाई माह के दूसरे अथवा तीसरे सप्ताह में पड़ता है। ऋतु के अनुसार देखा जाय तो यह गोवा की मुख्य ऋतु, वर्षा ऋतु के मध्य आता है। यह मानसून का एक अति उत्साहपूर्ण पर्व है। गोवा में इसके साथ ही दिवाली और होली का त्यौहार भी बहुत हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

गोवा के त्यौहारों की सूची


 

Forthcoming Festivals

Download our free mobile app

Get festival updates on your mobile & Explore and enjoy the panorama of Festivals/Fairs/Melas celebrated in India.